close button

हमारा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध – Essay on Cricket in Hindi

आज इस लेख में क्रिकेट पर निबंध – Essay on Cricket in Hindi कैसे लिखा जाता है इसके बारे में बताने वाले है जैसे की हम जानते है की क्रिकेट एक प्रसिद्ध खेल है क्रिकेट को भारत में बच्चे, नवजवान काफी पसंद करते है देश में जहाँ-तहां गाँव या शहरों में छोटे-छोटे मैदानों पर बच्चे क्रिकेट खेलते हुए नजर आते है।

जो लोग पढाई करते है उनको परीक्षाओ के दौरान हमारा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध पर लेख लिखने को मिलता है बहुत सारे छात्रो को Essay on Cricket in Hindi सही तरह से लिखने नहीं आता है अगर आप भी उनमे से एक है तो इस पोस्ट में और आप जानना चाहते है की क्रिकेट पर निबंध 10 लाइन, 300, 400, 1000 शब्दों में बताएँगे।

cricket-par-nibandh-in-hindi

Simple Essay on Cricket in Hindi 300 Words

खेल खेलना किसे नहीं पसंद, खेल का नाम सुनते ही मन उत्साह जाग उठता है स्कूल में भी बाकी विषयो के मुकाबले खेल का पीरियड बच्चो को काफी पसंद आता है वैसा तो हमारे देश में अलग –अलग तरह के खेल खेले जाते है, लेकिन मेरा प्रिय खेल क्रिकेट है यह एक प्रकार का आउटडोर खेल है जो बाहर मैदान में खेला जाता  है क्रिकेट अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित और लोकप्रिय खेल है।

मुझे क्रिकेट खेलना साथ ही साथ क्रिकेट देखना बहुत ज्यादा पसंद है चाहे बच्चे हो, बूढ़े हो, लड़का हो, लड़की हो या नौजवान हो, सबको ही यह खेल काफी पसंद है इस  खेल में दो टीम होती है प्रत्येक टीम में ग्यारह – ग्यारह खिलाड़ी होते हैं। इस खेल में निर्णय देने के लिए अंपायर भी होते है।

एक टीम की खिलाड़ी बल्लेबाजी करते है और दूसरी टीम की खिलाड़ी गेंदबाजी करते है क्रिकेट में हर जीत का फैसला होता है। जिस टीम के खिलाड़ी सबसे ज्यादा रन बनाते है या जिस टीम के खिलाड़ी काम आउट होते है उसके आधार पर किया जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट को तीन रूपों के आधार पर खेला जाता है पहला टेस्ट मैच, दूसरा एकदिवसीय मैच (वन डे मैच ),तीसरा T –20 मैच ,जो बाकी दो मैच के मुकाबले अधिक लोकप्रिय है भारत आयोजित T–20 आई. पी. एल. दुनिया भर में बहुत लोकप्रिय है। 

क्रिकेट में मेरा तो सबसे पसंदीदा खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी है मैं भी क्रिकेट में नाम कमाना चाहता हूं जिसके लिए मैं रोज सुबह शाम पढ़ाई के साथ क्रिकेट के भी प्रेक्टिस करता हूं क्रिकेट मेरे दिल के बेहद करीब है।

क्रिकेट पर निबंध 400 शब्दों में

भूमिका –

क्रिकेट एक बहुत आकर्षक खेल है आज कल यह बहुत लोकप्रिय है लोग इसे बहुत पसंद करते है बहुत से युवा लड़के और लड़कियां इसे पागलपन की हद तक चाहते है क्रिकेट मैच अनेक तरह के है। क्रिकेट मैच पांच दिनों तक खेला जाता है।

एकदिवसीय खेल भी होते  है। अब ट्वेंटी –20 का एक आकर्षण है यह ज्यादा रोमांचक होता है क्रिकेट एक विदेशी खेल है यह खेल भारत , इंग्लैंण्ड,आस्ट्रेलिया ,न्यूजीलैंड, श्रीलंका,पाकिस्तान और वेस्टइंडीज में अधिक लोकप्रिय है अब क्रिकेट भारत में इतना लोकप्रिय है की इसे विदेशी खेल नहीं कहा जा सकता है आज भारत टेस्ट मैच में विश्व में प्रथम स्थान पर है।

भारत और आस्ट्रेलिया –

कुछ दिनों में पूर्व भारत ने विश्व के नम्बर वन टीम आस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज जीता है सचिन तेंदुलकर को ‘ मैंन ऑफ द मैच’ और ‘ मैंन ऑफ द सीरीज’ घोषित किया गया है वे चौदह हजार रन पूरे कर लिए हैं वे सच मच क्रिकेट की  दुनिया के चमत्कार है। 

पटना में मुझे एक टेस्ट क्रिकेट मैच देखने को मिला था यह मोइनुल हक स्टेडियम, पटना में खेला गया था यह मैच भारत और आस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था आस्ट्रेलिया की कप्तान ने टॉस जीता ऑस्ट्रेलिया ने मैच की शुरुआत अच्छा तरह से किया। 

लेकिन उसका बैट्समैन भारत के गेंदबाजों के समाने अधिक देर तक नहीं टिक सके पहली पारी में वे बहुत कम रन बना सके भारतीय टीम ने प्रथम पाली में बहुत ज्यादा रन बना लिये लेकिन दूसरी पाली में वे आवश्यक रन नहीं बना सके अन्ततोगत्वा  मैच ड्रॉ. हो गया।

लेकिन पटना में यह मैच खेला गया यह मैच बहुत रोचक था। इसने लोगो के मानस पर एक यादगार प्रभाव छोड़ गया। 

निष्कर्ष –

क्रिकेट एक बल्ले और गेंद का दलीय खेल है जिसकी शुरुआत दक्षिणी इंग्लैंड में शुरू हुई थी इसका सबसे प्राचीन निश्चित संदर्भ 1598 में मिलता है, अब यह 100 से अधिक देशों में खेला जाता है, बहुत सारे लोग क्रिकेट खेलना पसंद करते है यह खेल पहले के समय में कुछ ही देशो में खेला जाता था लेकेन आज के समय में क्रिकेट अनेको देख खेल रहे है।

भारत में क्रिकेट खेलने वाले लोग हर गल्ली, मुहल्ले, गाँवो के छोटे-छोटे मैदानों में खेलते हुए नजर आएंगे जैसे की हम सभी जानते है की देश के महान प्लेयर सचिन तेंदुलकर क्रिकेट खेल को भारत में एक अलग उच्चाई दियें आज बहुत सारे बच्चे सचिन तेंदुलकर के जैसा बनाना चाहते है।

हालाकिं आज सचिन तेंदुलकर ने खेल से सन्यास ले लिया है लेकिन उनकी झाबी अभी भी क्रिकेट से रूचि रखने वाली व्यक्तियों दिमाग में छबी हुई है। 

क्रिकेट पर निबंध 1500 शब्दों में

परिचय – 

बचपन से हम खेल-कूदकर जवान होते है और बुढ़ापे तक किसी न किसी खेल से जुड़े रहते है, यानि कहने का मतलब है की खेल हमारे जीवन की शुरुआत खेल से होता है किसी भी व्यक्ति का मस्तिष्क और शरीर को स्वस्थ एवं तंदुरुस्त रखने के लिए खेलना हर व्यक्ति के लिए जरुरी होता है।

दुनियाभर में सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाला खेल क्रिकेट है क्रिकेट एक बल्ले और गेंद द्वारा खेला जाने वाला दलीय खेल है जिसकी शुरूआत इंग्लैण्ड से हुई थी, पहले के समय में क्रिकेट को केवल इंग्लैंड वासियों द्वारा हिन्दुस्तान में खेला जाता था।

लेकिन जब भारत को आजादी मिली उसके बाद क्रिकेट को भारत में खेला जाने लगा उसके बाद धीरे-धीरे क्रिकेट पुरे विश्व कई सारे द्वारा खेला जाने लगा अब आज कल छोटे-छोटे बच्चे भी क्रिकेट के बारे में जानते है।

क्रिकेट का आरंभ —   

क्रिकेट एक विदेशी खेल है इसका उल्लेख सबसे पहले 1478 ई० के फ्रांसिसी खेलो में हुआ था कहते है, इस खेल के नियमानुसार प्रदर्शन सबसे पहले 1850 ई० गिलफोर्ड नामक स्कूल में हुआ था। 

विदेशो में उनके अनेक क्लब स्थापित किये गये है धीरे – धीरे इस खेल में सुधार किए गये यह खेल इंग्लैंड में काफी लोकप्रिय हुआ अब तो यह अंतरराष्ट्रीय महत्व प्राप्त कर चुका था। 

क्रिकेट छात्रों, युवाओं प्रौढ़ व्यक्तियों में काफी लोकप्रिय हो चुका था सच तो यह है की आज अनेको प्रकार के खेलो में से क्रिकेट सबसे अधिक लोकप्रिय है लोग टिकट खरीद कर क्रिकेट का खेल देखने जाते है। 

भारत में क्रिकेट —

 भारत में क्रिकेट का खेल अंग्रेजो के साथ आया आरंभ में अंगरेजो ने क्रिकेट क्लब की स्थापना की।फिर, वहा क्रिकेट टूर्नामेंट प्रारंभ हुआ। सारे देशमे इसका प्रचार हुआ।  लोग बड़ी संख्या में इस ओर झुके। 

अब भारतीय भी इस खेल में रुचि लेने लगे 1928 ई० में भारतीय क्रिकेट के खिलाड़ीयो की टीम इंग्लैंड गई थी इसके बाद यह खेल विधार्थी, शिक्षक और साधारण लोगो में काफी लोकप्रिय हुआ इस खेल को देखने के लिए आज दर्शको की भीड़ उमड़ीती है लोग पहले से ही टिकट खरीदने की कोशिश करते है। 

स्टूडेंट और छोटे छोटे बच्चे भी आज , सचिन तेंदुलकर, अनिलकुंबले, महेंद्र सिंह धोनी , विराट कोहली, रोहित शर्मा, युराज सिंह,ईशान किशन, राशिद खान, मोहमद शमी, राहुल चोहर, दीपक चहर, आदि प्रसिद्ध खिलाड़ियों के नाम से परिचित है

क्रिकेट का आज इतना प्रचार – प्रसार है, उतना किसी दूसरे खेल का नहीं। बच्चे और युवक सड़को, गलियों और फील्ड में भी क्रिकेट खेलते खेलते पाये जाते हैं।

खेल की प्रक्रिया —

क्रिकेट का खेल एक बारे मैदान में खेला जाता है मैदान के बीचोंबीच 22 गज का लंबा पीच तैयार किया जाता है। इनके दोनो तरफ 3–3 इंच की दूरी पर तीन – तीन विकेट गाड़े जाते है इसमें ग्यारह –ग्यारह खिलाड़ियों की दो टीमें  होती हैं, हरेक टीम का अपना कप्तान होता है।

 खेल शुरू होने के पहले टीमों के कप्तान मैदान के बीच आकर अंपायर के सामने टॉस द्वारा तय करते हैं की कौन खेलेगा या खेलायेगा जो टीम जीत जाती है ,उसे ऐसा करने का अधिकार मिलता है। तब खेल शुरू होता है।खेलनेवाली टीम के दो खिलाड़ी बॉलिंग (गेंदबाजी) करता है।

अगर गेंद विकेट को छू का निकल जाती है तो खेलनेवाला आउट हो जाता है अगर वो अपने बैट से गेंद को मार कर कही बाउंड्री के पार खिल कर जाये तो छः रन मिलेगा अगर गेंद नीचे –नीचे जये तो 4 रन मिलता है और इस बीच और इस वह अपनी रनसंख्या में वृद्धि कर लेता है। 

एक टीम खेलती है और बिसरी टीम खेलती है जब टीम के 10 खिलाड़ी आउट हो जाते है तो दूसरी टीम की खेलने की बारी आती है इस प्रकार दोनो में जिसकी संख्या सबसे अधिक हो, वही टीम विजय घोषित हो जाती है और उस टीम को मेडल पुरस्कार दिया जाता है। 

क्रिकेट खेल की विधि –

  1. क्रिकेट खेल में प्रत्येक टीम में 11-11 प्लेयर्स होना अनिवार्य होता है
  2. क्रिकेट खेल में खेले जाने वाला बॉल का वजन 5 ओंस होता है।
  3. क्रिकेट खेल हमेसा सूखे मैदान होना चाहिए
  4. खेल का मैदान का  130–150 मी॰ का होता है।
  5. बल्ले की चौड़ाई 4.25 इंच और लम्बाई 38 इंच चाहिए।
  6. खेल के मैदान के बीचो- बीच खेलने के लिए पिच होना चाहिए, दोनों चोर पर 3-3 विकेट लगायें
  7. पिच के दोनों ओर 3 स्टंप लगाए जाते है प्रत्येक स्टंप की चौड़ाई 1 इंच होती है।
  8. 6 गेंद फेके जाने को एक ओवर कहा जाता है,
  9. 1 ओवर में 6 बार ही गेंद फेके जा सकते है, अगर बॉल वाइड या बाउंस चली जाए तो एक रन अतिरित मिलता है,और उस बॉल को गिना नहीं जाता है।
  10. खेल के समय 2 अंपायर होते एक लेग अंपायर और दूसरा बॉलर के पास होता है, दोनों अंपायर का डिसीजन अंतिम डिसीजन होता है।
  11.  अगर बल्लेबाज गेंद को बल्ले से मारता है और वह गेंद फील्डिंग करने वाले टीम के सदस्य द्वारा हवा में पकड़ ली, तो उसे कैच आउट कहते है इससे बल्लेबाज आउट माना जाता है।
  12. बल्लेबाज अपनी क्रीज़ में नहीं होता तो गेंदबाजी करने वाली टीम द्वारा अगर स्टंप पर गेंद मार दी जाती है तो बल्लेबाज रन आउट माना जाता है।
  13. टाइम आउट – किसी बल्लेबाज के आउट हो जाने पर अगर दूसरा बल्लेबाज 2 मिनट के अंदर मैदान में नहीं आता है तो टाइम आउट दे दिया जाता है।
  14. अगर गेंदबाज गेंद से विकेट पर हिट करता है और विकेट गिर जाता है या फिर विकेट पर रखी बेल गिर जाती है तो बोल्ड आउट माना जाएगा।
  15. बल्लेबाज द्वारा बल्लेबाजी करते समय बल्ले से या फिर उसके शरीर के किसी भी हिस्से से स्टंप या फिर बेल गिर जाती है तो उसे हिट विकेट कहा जाता है और बल्लेबाज आउट हो जाता है।
  16. जब बल्लेबाज द्वारा कोई गेंद मिस कर दी जाती है और वह क्रीज के बाहर होता है तो विकेटकीपर द्वारा गेंद को स्टंप पर मार दिया जाता है तो बल्लेबाज स्टंप आउट हो जाता है।
  17. बल्लेबाज अपने विकेट को सुरक्षित करने के लिए गेंद को हाथ से नहीं पकड़ सकता है।
  18. जिस ओवर में बल्लेबाजी एक भी रन नहीं ले पाता उसे मेडन ओवर कहा जाता है।

इसके आलवा और भी क्रिकेट के नियम हो सकते है आगे पोस्ट में इसके बारे में और भी उपडेट कर दिया जाएगा।

क्रिकेट के प्रकार –

क्रिकेट खेल के कई प्रकार है यह खेल अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बहुत अधिक लोकप्रिय है जैसे की, आईपीएल, टी–20 वर्डकप, अन्तर्राष्ट्रीय वर्डकप, रणजी ट्रॉफी, रानी झांसी ट्रॉफी, बजी ट्रॉफी, ईरानी ट्रॉफी, दिलीप ट्रॉफी, शीश महल ट्रॉफी और अब्दुल्ला गोल्ड कप आदि इसके अलावा और भी देश-विदेश से क्रिकेट प्रतियोगिता सालो भर होती रहती है। 

क्रिकेट पर निबंध 10 लाइन –

  1. मेरा प्रिय खेल क्रिकेट है।
  2. क्रिकेट को कई देशों में खेला जाता है।
  3. क्रिकेट से हमारा मनोरंजन होता है और इससे हमारी सेहद भी अच्छी रहती है।
  4. क्रिकेट का खेल खुले मैदान में खेला जाता है।
  5. क्रिकेट खेल का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक रन बना कर जीत हासिल किया जाता है।
  6. क्रिकेट का खेल खेलने के लिए मैदान में पीच बनाया जाता है। 
  7. क्रिकेट में ।। खिलाड़ियों की दो टीम होती है। 
  8. इस खेल में एक टीम फील्डिंग करती है और दूसरी टीम बैटिंग करती है।
  9. इस खेल में निर्णायक दो आम्पायर होते है।
  10. क्रिकेट में हर जीत का निर्णय बनाये गाये रनो की संख्या से होती है।
  11. इस खेल में ग्यारह –ग्यारह दो टीम होती है। 

क्रिकेट खेलने के लाभ –

जैसा की हम ही खेलना एक व्याम है वैसे की क्रिकेट खेलने के कई प्रकार है जो निम्नलिखित है।

  1. क्रिकेट खेलने से हमारा शारीर स्वास्थ और मानसिक संतुलन दोनों का विकसित होता है।
  2. क्रिकेट खेलने से बच्चो का ध्यान एकद्रित रहता है।
  3. इस खेल को खेलने से रात को नींद अच्छी लगती है जिससे हमारा सेहत अच्छा रहता है।
  4. क्रिकेट खेलने के शारीर का आलास दूर चला जाता है और शारीर में फुर्ती रहती है।
  5. क्रिकेट खेलने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है जो जो बच्चो को सही माना जाता है।
  6. इसे खेलने से हमारी आखों की क्षमता, दिमाग की क्षमता बढ़ता है।

भारत के प्रसिद्ध खिलाड़ी –

वैसे तो दुनियाभर में अनेको बेहतरीन क्रिकेट खेलने वाले प्लेयर है जो अपने क्रिकेट के अच्छे प्रदर्शन के कारण आज उनका नाम क्रिकेट के जगत में अमर है कुछ प्रसिद्ध क्रिकेटर का नाम निचे दिया है।

  • सुनील गावस्कर
  • सचिन, कपिल देव
  • युवराज सिंह
  • महेंद्र सिंह धोनी
  • विराट कोहली
  • वीरेंद्र सहवाग
  • अनिल कुंबले
  • गौतम गंभीर
  • हरभजन सिंह
  • विजय हजारे
  • आशीष नेहरा
  • इरफान पठान
  • सौरव गांगुली
  • राहुल द्रविड़
  • सचिन तेंदुलकर
  • महेंद्र सिंह धोनी
  • विराट कोहिली, इत्यादि

सारांश – 

भारत के क्रिकेट खिलाड़ी और लोकप्रिय हो चुके है भारतीय टीम आज विदेशो में बुलायि जाती है और खलियादियो का मन सम्मान बड़े फिल्म अभिनेताओ की तरह होता है। 

कुछ लोग कहते है की यह विदेशी खेल नहीं ,बल्कि गांवो में आज भी खेले जानेवाले गुल्ली –डंडा का विकसित और आधुनिक रूप है। जो कुछ भी हो, पर इतना की तय है की टी० वी० हो या खेल का मैदान सभी दर्शक सुधबुध भूलकर इस खेल में रस लेते है इस खेल का  भविष्य उज्जवल है। 

FAQ

Q : क्रिकेट का शुरुआत कब हुआ था?

Ans : क्रिकेट की शुरुआत 16 शताब्दी में हुई थी

Q : क्रिकेट का जनक कौन है?

Ans : क्रिकेट के पितामह : डॉ. डब्ल्यू. जी. ग्रेस (1848-1915)

उम्मीद करता हूँ की क्रिकेट पर निबंध – Essay on Cricket in Hindi) आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे सोशल मीडया पर शेयर करे।

Related Articles :-

Leave a Comment