close button

मेरी पाठशाला पर निबंध | Meri Pathshala Par Nibandh

Author: Nishant Singh Rajput | 2 months ago

Meri Pathshala Par Nibandh : यहाँ इस लेख में आपको मेरी पाठशाला पर निबंध उपलब्ध कराएँगे हमलोगो की बचपन की पढाई पाठशाला से ही शुरू होती है पाठशाला की पढाई हम सभी लोगो की काफी महत्वपूर्ण होता है अक्सर जो छात्र पढाई करते उन्हें अक्सर Meri Pathshala Par Niband लिखने को मिलता है इसलिए इस पोस्ट में हम मेरी पाठशाला पर निबंध 200 शब्द, 500 शब्द, 10 लाइन प्राप्त लिए है।

Meri Pathshala Par Nibandh

मेरी पाठशाला पर निबंध (200 शब्द)

हमारी पाठशाला सुबह के समय शुरू होती है हमारी पाठशाला में सबसे पहले प्रार्थना होती है प्रार्थना होने के बाद हम अपने क्लास टीचर को शुभ नमस्कार करते है पाठशाला मे बहुत ही सख्ती से अनुशासन में रखने के लिए एक सम्मान वर्दी दिया जाता है जिसे पहनना अनिवार्य है।

मेरी पाठशाला बहुत ही सुंदर और स्वक्छ पाठशाला है मेरे स्कूल का नाम ……………………………… है यह एक आदर्श विधालय है जो गाँव मे स्थित है मेरी पाठशाला में कक्षा पहली से लेकर आठ तक पढ़ाई होती है मेरी पथसल में बच्चों को बहुत ही अच्छी शिक्षा दी जाती है मेरे कक्षा अध्यापक सभी बच्चों से प्यार से पेश आते है और प्रतिदिन अच्छी चीजों सीखते है। 

हमारी पाठशाला एक मंदिर के सम्मान है जहाँ हम रोज पढ़ने आते है ताकि अपने जीवन में उज्जवल भविष्य प्राप्त कर सके मेरी पाठशाला में सभी को एक सम्मान दर्जा दिया जाता है हमें प्रतिदिन पाठशाला जाना बहुत ही अच्छा लगता है क्योंकि पाठशाला एक ऐसा स्थान है जहाँ पर हमे प्रतिदिन कुछ न कुछ नया सिखने को मिलता है। 

मेरी पाठशाला पर निबंध (500 शब्द)

मेरी पाठशाला का नाम राजकीय मध्य विधालय राजनपुर है और हम इसे शिक्षा का मंदिर कहते है क्योंकि यह हर इंसान का भविष्य सुधारता है पाठशाला नौकरशाह , राजनेता , शिक्षाविध , बैज्ञानिक , कलाकार , लेखक और बहुत कुछ के लिए एक प्रशिक्षण का मैदान होता है हमें यहाँ हर चीज के बारे में पढ़ाया जाता है एक स्कूल वह जगह है जहाँ आप अपनी प्रतिभा को देखते है और शिक्षकों की मदद से उषका पोषण करते है वे आपको अपने बच्चों की तरह प्यार करते है।  

एक अच्छा स्कूल आपके चरित्र को आकार देता है यह आपको सिखाता है की अपने कम्फर्ट जोन के बाहर के लोगों से कैसे निपटा जाए यह आपको शिष्टाचार , मूल्य और सार्वजनिक व्यवहार भी सिखाता है मेरा स्कूल शहर के सबसे अच्छे स्कूलों में से एक है यह अपने उच्च शैक्षिक मानकों , अत्याधुनिक स्मार्ट कक्षाओ के लिए जाना जाता है। 

स्कूल केन्द्रीय शिक्षा बोर्ड (CBSE) के तरह संबद्ध है हमारे स्कूल में पढ़ाई , स्वच्छता और वर्दी के बहुत सख्त मानक है छात्रों और शिक्षकों को स्कूल जाते है तो सुबह की हमारी प्रार्थनाएँ होती है और प्रतिदिन 6 घंटे पढ़ाई करते है हमारी समयावधि ऋतुओ के अनुसार अलग अलग होते है गर्मी के मौसम में स्कूल सुबह के लगभग 7:30 बजे शुरू होता है और दोपहर 12 बजे समाप्त होता है। 

सर्दियों के मौसम में सुबह 9:30 से 10 बजे तक का समय बदल जाता है और दोपहर 3 बजे समाप्त होता है हमारे स्कूल में बच्चों को खेलने के लिए झूलों , भाली-बाँल , स्लाइडस और मीरा गो राउंड के साथ बड़े पैमाने पर खेल का मैदान है लॅान और उधान हरियाली से भरे हुए है और इनमें सुंदर फूल है जो माली द्वारा प्रबंधित किए जाते है।  

पुस्तकालय हमारे स्कूल के बारे में सबसे अच्छा हिस्सा है यह हमारे विधालय का सबसे शांति – पूर्ण स्थान है इसमें शास्त्रीय साहित्य आत्म -अथाओं से लेकर आधुनिक उपन्यासों तक की 2000 से अधिक पुस्तकें है पुस्तकालय में शांति से बैठने और किताबें पढ़ने के लिए सुंदर सोफे है कैंटीन स्वादिष्ट व्यवहार और स्नैक्स से भर है।  

हमारे स्कूल मे बड़ी हवादार कमरों में बड़ी खिड़कियों के साथ एक सुंदर बुनियादी ढांचा है पाठ्यक्रम कठिन लेकिन बहुत दिलचस्प है शिक्षक बहुत अच्छे है हमारी प्रिंसिपल बहुत ही सम्मानित और अच्छी महिला है वह स्वभाव से बहुत ईमानदार है और बच्चों की भी उतनी ही देखभाल करती है।  

हमारे स्कूल में बहुत समृद्ध वातावरण जो हमें सीखने और जीवन में बेहतर होने के लिए आगे बढ़ाया जाता है हमारा स्कूल उन बच्चों के लिए परिवहन सुविधा भी प्रदान करता है जो विभिन्न क्षेत्रों से आते है हमारा विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन करता है जैसे वाद – विवाह , चित्रकला , प्रतियोगिता , रचनात्मक लेखन प्रतियों – गीत और कई अन्य वार्षिक दिवस , खेल दिवस जैसे कार्य है जो वर्ष में एक बार होते है मेरे स्कूल नए मुझे बहुत कुछ सिखाया है।  

Meri Pathshala Par Nibandh

मेरी पाठशाला पर निबंध 10 लाइन

  1. मेरी पाठशाला का नाम राजकीय मध्य विधालय राजनपुरा है। 
  2. मेरी पाठशाला के सामने एक भव्य खेल का मैदान है। 
  3. मेरी पाठशाला में फूलों का बगीचा है उसमें रंग विरंग रंग के फूल है। 
  4. मेरे पाठशाला मेरे घर से दूर है मेरी पाठशाला की बस मुझे रोज सुबह लेने आती है। 
  5. मेरी पाठशाला बहुत भव्य और सुंदर है। 
  6. मुझे मेरी पाठशाला बहुत पसंद है। 
  7. मेरे पाठशाला का परिसर बहुत सुंदर और स्वक्छ है। 
  8. पाठशाला के कर्मचारी रोज पाठशाला की साफ सफाई करते है। 
  9. मेरी पाठशाला में वाचनालय से लेकर खेलने की सारी सुविधाएं उपलब्द है। 
  10. मेरे पाठशाला केसारे शिक्षक मेहनती है।  

उम्मीद करता हूँ की मेरी पाठशाला पर निबंध (Meri Pathshala Par Nibandh) आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे सोशल मीडया पर शेयर करे।

Related Articles :-

Share on:

मै निशांत सिंह राजपूत इस ब्लॉग का फ़ाउंडर हूँ। मुझे अलग-अलग चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में रूचि है, मै करीब 3 वर्ष से अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहा हूँ। मेरे द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Leave a Comment