close button

इंटरनेट पर निबंध | Internet Essay in Hindi

Author: Nishant Singh Rajput | 2 weeks ago

Internet Essay in Hindi : वर्तमान समय में इन्टरनेट हमारे जीवन का एक हिस्सा बन गया है आज हर हाथ में स्मार्टफोन है जिसमे कोई भी इन्टरनेट के माध्यम से किसी भी तरह का सवाल का जवाब धुंध सकते है।

आप दुनिया के किसी भी जगह पर रहे आप इन्टरनेट से किसी भी जानकारी को प्राप्त कर सकते है आज के समय मे सभी स्मार्टफोन यूजर इन्टरनेट से जुडी फेसबुक, व्हाट्सएप्प, ट्विटर, इंस्ट्राग्राम, गूगल और यूट्यूब जैसे कई फ्लेटफॉर्म अपना अपना जरूरत मंद चीजों को खोजते है और अपना काम का अंजाम देते है।

Internet Essay in Hindi

हमसे दूर हजारो मील दूर बैठे व्यक्ति कैसे दुनिया भर के सबसे बड़े इंटरनेट या अंतरजाल को मैनेज करता होगा आइये आपको यहाँ इस लेख में इन्टरनेट पर निबंध उपलब्ध कराये है। 

इंटरनेट पर निबंध (200 शब्द)

इंटरनेट एक विशाल और ज्यादातर समस्याओं का समाधान प्रदान करने वाला उपकरण है इसका उपयोग संपर्क बनाने, जानकारी प्राप्त करने, व्यापार करने, शिक्षा और मनोरंजन के लिए होता है इंटरनेट से जुड़ने के लिए एक कंप्यूटर या मोबाइल फ़ोन की आवश्यकता होती है, जो इंटरनेट से जुड़ा होता है आज के समय में, इंटरनेट एक स्वाभिमानिक और अधिकार है, जिसे सभी लोग उपयोग कर सकते हैं।

इंटरनेट का उपयोग सभी उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण है, जो नए जानकारियों और विचारों से संबंधित हैं इंटरनेट से जुड़ने से, हम अपने व्यक्तिग कार्यो से जुडी जानकारी भी इन्टरनेट से प्राप्त करते है

इंटरनेट एक विश्वव्यापी नेटवर्क है जो दुनिया भर में सूचनाओं, डेटा, मीडिया और अन्य सामग्री को स्थान से स्थान तक पहुंचाने के लिए उपयोग किया जाता है यह एक विश्वव्यापी साइबरनेटवर्क है जो विभिन्न देशों, समुदायों और भाषाओं के लोगों के बीच संपर्क करने में मदद करता है।

इंटरनेट का उपयोग समाज, व्यवसाय, शिक्षा, संचार, मनोरंजन और समय-समय पर अन्य क्षेत्रों में भी किया जाता है। इंटरनेट से हम विभिन्न जानकारियों, न्यूज़, मीडिया सामग्री, सोशल मीडिया प्लॉटफार्म्स, ई-मेल और वेबसाइटों के माध्यम से जानकारी प्राप्त करते है।

Internet Essay in Hindi

इंटरनेट पर निबंध (500 शब्द)

परिचय

इंटरनेट (International network of computer) एक जाल है जो दुनिया भर में कई सारे कम्प्यूटरों को जोड़ने का एक तार है आम भाषा मे कहाँ जाए तो इंटरनेट एक दूसरे का डेटा या सूचना आदान प्रदान करने का माध्यम है जो कम्प्यूटरों का एक बीच की दूरी का संबंध को इंटरनेट कहा जाता है।

आपको बता दे की जब 1969  में इंसान ने चाँद पर कदम रखा था US के रक्षा कार्यालय ने ARPA नियुक्त किया था उस वक्त 4 कम्पुटर नेटवर्क बनाया गया था जिसमे डाटा एक्सचेंज और शेयर किया था कुक समय बाद यह कई एजेंसी से जोड़ा गया।

समय के अनुसार यह नेटवर्क बढ़ता चला गया और बाद में इसे आम लोगो के लिए ओपन कर दिया गया आपको जानकार आश्चर्य होगा की इन्टरनेट पर किसी भी एजेंसी का कंट्रोल नहीं है।

भारत में सबसे पहले 15 अगस्त को गवर्मेंट कंपनी बीएसएनएल ने इन्टनेट की शुरुआत की थी लेकिन बाद में धीरे धीरे सभी प्राइवेट टेलीकम कंपनिया जैसे, एयरटेल, जिओ, रिलायंस, आईडिया आदि कंपनियों से अपनी इन्टरनेट सर्विस शुरू किया।

इंटरनेट कैसे काम करता है

आपसे कई हजार किलोमीटर दूर एक डेटा सेंटर होता है जो इंटरनेट से जुड़े सभी चीजो को अपने अंदर स्टोर कर के रखता है जिसका सबसे बड़ा उदाहरण सबसे ज्यादा इस्तमाल किये जाने वाला यूट्यूब को लेते है आप जो यूट्यूब पर वीडियो देखते है चाहे जो भी वीडियो हो वो उसी डेटा सर्वर में स्टोर है।

ऑप्टीकल फाइबर कैसे काम करता है

ऑप्टिकल फाइबर डेटा सेंटर और आपके डिवाइस के बीच मे जुड़ता है आपको जानना बहुत जरूरी है कि हर एक डिवाइस इंटरनेट से जुड़ा है चाहे सर्वर हो या कंप्यूटर या मोबाइल फ़ोन सभी सभी ip address के जड़िये अज्ञात नंबर से विशेष रूप से पहचाने जाते है ठीक उसी प्रकार जैसे आपके घर का एड्रेस होता है और जब आपको कुछ भेजना होता हैं तो आपके घर पर ही भेजा जाता है।

ठीक उसी प्रकार मोबाइल को सभी चीजो का अपना-अपना आईपी एड्रेस होता है जिसके जड़िये इंटरनेट का डेटा आपके फ़ोन या कंप्यूटर तक आसानी से पहुँचता है अब आप जिस किसी से इंटरनेट लेते है चाहे मोबाइल का होर्ट्सपोर्ट या किसी बड़ी सर्वर सभी लोग इंटरनेट आपके आईपी एड्रेस के जड़िये ही देते है हालांकि की के सर्वर में भी एक आईपी एड्रेस होता है जो सर्वर वेबसाइट से जोड़ता है आप आईपी एड्रेस को जानकर किसी भी वेबसाइट का इस्तमाल कर सकते है।

हालाकिं किसी व्यक्ति को इतने सारे आईपी एड्रेस को याद करना मुश्किल है इसी लिए मुश्किल को हल करने के लिए डोमेन नेम जैसे,Hindimatra.com , Facebook.com, और YouTube.com आदि का उपयोग किया जाता है जो आईपी नम्बर के मुकाबले इसे याद करना आसान होता है एक सर्वर में कैसे सारे वेबसाइट को संग्रहित करने की क्षमता होती है और सर्वर के सभी वेबसाइट को सर्वर के आईपी एड्रेस से कनेक्ट नहीं किया जा सकता है। 

इंटरनेट का उपयोग करने के लिए हम हमेसा आईपी एड्रेस के बजाय हम हमेसा डोमेन नेम का प्रयोग करते है।

इंटरनेट पर निबंध (700 शब्द)

परिचय

इंटरनेट एक विशाल वितरण माध्यम है जो विभिन्न स्थानों से जुड़े हुए कंप्यूटरों को संयुक्त करता है। यह एक सूचना प्रदान केंद्र है जो वैज्ञानिक जानकारी, समाचार, मनोरंजन, शिक्षा और अन्य अधिकांश सूचनाओं को उपलब्ध कराता है।

इंटरनेट का उपयोग अनेक तरह से हो सकता है, जैसे कि समाचार पढ़ना, ईमेल करना, खेल खेलना, सामग्री डाउनलोड करना, संपर्क सूची बनाना और अधिकांश सूचनाओं को खोजना। इंटरनेट ने मानव जीवन में बहुत सारी बदलाव लाए हैं, जैसे कि सूचना शेयर करना, शॉपिंग करना, ऑनलाइन बैंकिंग करना और अन्य सेवाओं का उपलब्ध कराया है।

इंटरनेट के लाभ

आज के समय में लगभग सभी काम इन्टरनेट द्वारा ही किया जा रहा है इन्टरनेट से लाभ किसी -एक या दो को कहना लगत होगा किसी भी जानकारी को शीघ्र सीधे से प्राप्त किया जा सकता है इंटरनेट से शिक्षा, शोध, मनोरंजन, व्यापार, संपर्क करना, अपने बैंक के लेनदेन करना, ऑनलाइन शॉपिंग करना, विवरण प्राप्त करना आदि की जानकारी आसानी से मिल जाती है है इंटरनेट ने किसी को भी किसी स्थान से किसी और स्थान तक संपर्क करने की क्षमता दी है।

इंटरनेट के 10 नुकसान 

  1. इंटरनेट के ज्यादा इस्तेमाल या आवश्यक से अधिक इस्तेमाल से हमारे स्वास्थ्य पर बहुत प्रभाव पड़ता है जैसे आँखों का कमजोर होना , मानसिक असंतुलन , मोटापा तथा तनाव आदि जैसी अनेक समस्या उत्पन्न होती है। 
  2. इसका एक बड़ा दुष्प्रभाव यह है की यदि आवश्यकता से अधिक इस्तेमाल करते है तो समय तथा पैसा दोनों बर्बाद होते है क्योंकि इंटरनेट फ्री नहीं होता। 
  3. इसका एक और बड़ा निक्सन या दुष्प्रभाव यह है की इसके द्वारा अनेक प्रकार के गैर कानूनी कार्य किए जाते है जियसे हैकिंग , स्पैम मेल्स और वायरस आदि जो पैसे की ठगी व इंपोर्टेंट डाटा की चोरी के लिए कीए जाते है जिसके कारण लाखों का नुकसान होता है। 
  4. इंटरनेट के आवश्यक से आधिक इस्तेमाल से बड़ी मात्रा में विधुतीय ऊर्जा बर्बाद होती है क्योंकि एक रिसर्च में पाया गया है की गूगल पर एक सर्च करने पर इतनी बिजली बर्बाद होती है की उससे 13 वाट का बल्ब 1 घंटे तक जलाया जा सकता है विधुतीय ऊर्जा की बर्बाद भी इसका एक बड़ा दुष्प्रभाव है। 
  5. इंटरनेट का एक बड़ा नुकसान यह है की इसके कारण co2 यानि कार्बनडाइआक्साइट गैस की मात्रा में वृध्दि होती है क्योंकि यह पाया गया है की गूगल पर दो बार सर्च करने से लगभग 15 ग्राम co2 का उत्सर्जन होता है। 
  6. आज के दौर में इंटरनेट का बहुत बड़ा दुष्प्रभाव यह है की इसके इस्तेमाल के कारण इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएसन और रेडियो फ्रीक्वेंसी उत्पन्न होती है जो ग्रीन हाउस गैसों जैसे कार्बनडाई आक्साइड , नाइट्रस आक्साइड , मियेन , क्लोरो – फलोरो , कार्बन तथा वाष्प आदि के स्तर में वृध्दि करते है तथा हमारे पर्यावरण को नुकसान पहुँचाता है। 
  7. विश्व में प्रतिदिन गूगल पर लगभग 3.5 अरब बार सर्च किया जाता है और गूगल पर दो बार सर्च करने से लगभग 15 ग्राम co2 उत्पन्न होने के कारण गलोबल वार्मिंग के स्तर में वृद्धि होती है गलोबल वार्मिंग भी इसके घातक दुष्प्रभाव में से एक है। 
  8. छोटे बच्चों व अन्य पर भी इंटरनेट का बहुत बुरा असर पड़ता है क्योंकि वे अपना कीमती समय व ऊर्जा इंटरनेट पर गेम्स तथा सोसल मीडिया प्लेटपहमर्स पर बर्बाद करते है जिससे उनकी पढ़ाई तथा भविष्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है यह भी इंटरनेट काएक बड़ा दुष्प्रभाव है। 
  9. इंटरनेट के एक बड़ा नुकसान यह है की यह मनुष्य की सोचने की क्षमता को प्रभावित करता है क्योंकि इंटरनेट पर सभी जानकारी आसानी से उपलब्ध होने के कारण मनुष्य ज्यादा सोचने का प्रयत्न नहीं करता तथा आलसी होता जा रहा है। 
  10. इंटरनेट के द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफार्म तथा अन्य साइट्स पर गलत इफार्मेशन व अनुचीत तस्वीरों जैसे राजनीतिक या समाज को भ्रमित करने वाली अन्य जानकारी को वायरल कर दिया जाता है यह भी इंटरनेट पर एक बड़ा दुष्प्रभाव है। 

इंटरनेट का 10 फायदे 

  1. इंटरनेट ज्ञान का बहुत बड़ा भंडार है। 
  2. हम इंटरनेट से किसी भी जानकारी को आसानी से प्राप्त कर सकते है। 
  3. इंटरनेट हमें कुछ सेकंड में हमारे सामने कोई भी जानकारी देता है। 
  4. हम इंटरनेट से दूर बैठे किसी भी व्यक्ति से बाते कर सकते है।
  5. इंटरनेट ने पत्र और टेलीग्राम सर्कुलेशन को मिटा दिया है। 
  6. पहले लोग पत्र और तर के माध्यम से एक दुसते से संपर्क करते थे। 
  7. इंटरनेट के माध्यम से कभी भी आनलाइन बैट की जसक्ति है। 
  8. इंटरनेट के आगमन के साथ कई समस्या दूर हो गई है। 
  9. अब कोई भी किसी को भी सिर्फ 1 सेकंड में ईमेल कर सकते है। 
  10. पैसे का लेन  – देन भी इंटरनेट के माध्यम से किया जाता है।  

इंटरनेट पर निबंध 10 लाइन 

  1. इंटरनेट ज्ञान का भंडार है। 
  2. इंटरनेट से हम किसी भी जानकारी को आसानी से निकाल सकते है। 
  3. इंटरनेट हमें कीसी भी जानकारी को कुछ सेकंड में ही हमारे सामने रख देता है। 
  4. इंटरनेट से हम किसी भी दूर बैठे व्यक्ति से बात कर सकते है। 
  5. इंटरनेट ने चिट्ठी और तार प्रचलन को खत्म कर दिया। 
  6. पहले लोग एक-दुसरे से चिट्ठी एवं तर के द्वारा संपर्क करते थे। 
  7. जिसमें चिट्ठी दूसरे व्यक्ति तक पहुँचने में कई दिन लग जाते थे। 
  8. लेकिन इंटरनेट के आने से ये समस्या दूर हो गई। 
  9. अब कोई भी व्यक्ति सिर्फ 1 सेकेंड में किसी को भी ईमेल कर सकता है।
  10. पैसें का लेनदेन भी इंटरनेट के माध्यम से होता है। 

उम्मीद करता हूँ की इंटरनेट पर निबंध (Internet Essay in Hindi) आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे सोशल मीडया पर शेयर करे।

Related Articles :-

Share on:

मै निशांत सिंह राजपूत इस ब्लॉग का फ़ाउंडर हूँ। मुझे अलग-अलग चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में रूचि है, मै करीब 3 वर्ष से अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहा हूँ। मेरे द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Leave a Comment