श्री गणेश आरती | Ganesh Ji Ki Aarti

श्री गणेश आरती | Ganesh Ji Ki Aarti

Ganesh Ji Ki Aarti: भगवान श्री गणेश जी को प्रथम पूज्य कहा जाता है। इनकी आराधना करने से सुख एवं समृद्धि प्राप्त होती है। और सभी प्रकार का दुख एवं रोग दूर होते है। गणेश जी की आरती गाने से उनकी अपार कृपा हमेशा बनी रहती है।

इस लेख में आपको गणेश जी की संपूर्ण आरती दी गई है। साथ ही आपको श्री गणेश जी की आरती का PDF भी दिया गया है। जिसे आप आसानी से बिल्कुल फ्री में डाउनलोड कर सकते है।

श्री गणेश जी की आरती (Ganesh Ji Ki Aarti)

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

एक दंत दयावंत, चार भुजाधारी।
माथे सिंदूर सोहे, मूसे की सवारी॥
जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

पान चढ़े फल चढ़े, और चढ़े मेवा।
लड्डुअन का भोग लगे, संत करें सेवा॥
जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया।
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया॥
जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

‘सूर’ श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥
जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी।
कामना को पूर्ण करो, जाऊं बलिहारी॥
जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

श्री गणेश आरती अंग्रेजी में

Jay Ganesh jay Ganesh, jay Ganesh deva
Mata Jaki Parvati, pita Mahadeva.

Ek Dant Dayavant, Char Bhujadhari
Mathe Sindur Sohe, Muse ki Sawari
Jay Ganesh Jay Ganesh, Jay Ganesh deva
Mata Jaki Parvati, pita Mahadeva.

Pan Chadhe Phal Chadhe, aur Chadhe Meva
Ladduan ka Bhog Lage, Sant Karen Seva
jay Ganesh jay Ganesh, jay Ganesh deva
Mata Jaki Parvati, pita Mahadeva.

Andhan Ko Aankh Det, Kodhin Ko Kaya
Banjhan ko Putr Det, Nirdhan Ko Maya
Jay Ganesh Jay Ganesh, Jay Ganesh Deva
Mata Jaki Parvati, pita Mahadeva.

Sur Shyam Sharan Aae, Saphal Kije Seva
Mata Jaki Parvati, pita Mahadeva
Jay Ganesh Jay Ganesh, Jay Ganesh Deva
Mata Jaki Parvati, pita Mahadeva.

Dinan Ke Laaj Rakho, Shambhu Sutkari
Kamana Ko Purn Karo, Jaoon Balihari
Jay Ganesh Jay Ganesh, Jay Ganesh Deva
Mata Jaki Parvati, pita Mahadeva.

निष्कर्ष

उम्मीद है की इस लेख में दी गई ‘Ganesh Ji Ki Aarti‘ आपको बहुत पसंद आयी होगी। यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो कमेन्ट में “जय श्री गणेश” जरूर लिखे।

Leave a Comment