close button

East West North South in Hindi | सभी दिशाओं के नाम हिंदी व अंग्रेजी में

East West North South in Hindi : यहाँ इस लेख में आपको सभी दिशाओं के नाम व उसके बारे में अध्यन करेंगे बहुत सारे लोगो की ये जानकारी नहीं होती है की पूरब, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण दीधर है कई सारे ऐसे भी लोग है जिन्हें ये भी नहीं पता की कौन से दिशा किस तरफ है और दिशा को अंग्रेजी में क्या कहा जाता है। 

अगर आपको भी सभी दिशाओं के नाम के बारे में सही जानकारी नहीं है तो आप सही पोस्ट पर है इस पोस्ट में आपको East West North South in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी जानेंगे।

East West North South in Hindi

East West North South in Hindi

संख्या हिंदी नाम English Nameदिशा
01.उत्तरNorthनॉर्थ
02.दक्षिणSouthसाउथ
03.पूर्वEastईस्ट
04.पश्चिमWestवेस्ट
05.उत्तर पूर्वNorth Eastनॉर्थ ईस्ट
06.दक्षिण पूर्वSouth Eastसाउथ ईस्ट
07.उत्तर पश्चिमNorth Westनॉर्थ वेस्ट
08.दक्षिण पश्चिमSouth Westसाउथ वेस्ट
09.उत्तरीNorthernनॉर्थर्न
10.दक्षिणीSouthernसाउथर्न
11.पूर्वीEasternईस्टर्न
12.पश्चिमीWesternवेस्टर्न
13.दक्षिणवासीSouthernerसाउथर्नर
14.सुदूर दक्षिणीSouthern Mostसाउथर्नमोस्ट
15.ऊपरUpअप
16.नीचेDownडाउन
17.बाएँLeftलेफ्ट
18.दाएँRightराइट

चार दिशाओं के नाम व उनकी पहचान

जैसा ही हम जानते है की वास्तविक रूप से दिशा चार होते है जिनका नाम निचे निम्नलिखित है।

  1. पूरब (East)
  2. पश्चिम (West)
  3. उत्तर (North)
  4. दक्षिण (South)

1. पूरब (East) :- जैसा की हम जानते है की सूर्य हमेशा पूरब दिशा से उदित होता है, इसी कारण इस दिशा को आत्मा के कारक सूर्य का दिशा माना जाता है इसके अलावा वास्तु शास्त्र के अनुसार इंद्र देव को पूरब दिशा के देवता माना जाता है शास्त्रों के अनुसार पने घर में पूर्व दिशा की तरफ कोई भी रुकावट ना रहने दें क्योंकि ये दिशा पितृस्थान की द्योतक मानी जाती है साथ ही अगर पूर्व दिशा खुली रहती है तो घर के मुखिया को दीर्घायु प्राप्त होती है।

2. पश्चिम (West) :- सूर्य हमेशा पश्चिम दिशा में अस्त होता है पश्चिम, चार प्रमुख दिशाओं मे से एक है साथ ही यह कुतुबनुमा के दिशासंकेतों मे से भी एक प्रमुख संकेत है यह पूर्व का विपरीत है और उत्तर और दक्षिण के लंबवत होता है।

3. उत्तर (North) :- उत्तर दिशा को कुबेर को धन का देवता का मातृ स्थान कहा जाता है, उत्तर दिशा को धन की दिशा मानी जाती है इस दिशा को घर में हमेशा कच्ची जमीन छुडवानी चाहिये और इसे खाली भी छोड़ना चाहिये इससे घर में धन की देवी लक्ष्मी का आगमन होता है। 

4. दक्षिण (South) :- दक्षिण दिशा में यम देवता का स्थान मना जाता है जब भी किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है तो उसे दक्षिण की तरफ करके सुलाया जाता है, दक्षिण दिशा में हमें कभी भी शौचालय, गड्ढ़े आदि नहीं होना चाहिए लेकिन धन की तिजोरी, फैक्ट्री के मशीने, ऊँचे ऊँचे पेड़ दक्षिण दिशा में लगानी चाहिए उससे धन में बढ़ौत्तरी होती है।

FAQ

Q : हिंदी में दिशाएँ कितनी होती है?

Ans : हिंदी में कुल 10 दिशाएँ है जो पूर्व, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण, ईशान, नैऋत्य, वायव्य, आग्नेय, आकाश, पाताल है.

Q : वेस्ट को हिंदी में क्या कहते है?

Ans : पश्चिम दिशा

Q : नार्थ को हिंदी में क्या कहते है?

Ans : उतर दिशा

Q : ईस्ट को हिंदी में क्या कहते है?

Ans : पूर्व दिशा

Q : साउथ को हिंदी में क्या कहते है?

Ans : दक्षिण दिशा

Q : दो दिशाओ के बीच की दिशा को क्या कहते है?

Ans : अगर पूर्व और उत्तर दिशा जहाँ मिलती है इन दोनों के बिच के स्थान को ईशान दिशा कहते है वास्तु के मुताबिक घर में यह स्थान ईशान कोण कहलाता है.

Q : सूरज किस दिशा से निकलता है?

Ans : पूरब

Q : पृथ्वी कौन सी दिशा में घुमती है?

Ans : पृथ्वी पश्चिम से पूरब दिशा की ओर घुमती है, जिसे हम पृथ्वी की दैनिक गति कहते है, पृथ्वी को एक घूर्णन पूरा करने में 23 घंटा 56 मिनट, 4.09 सेकेण्ड का समय लगता है.

हमें उम्मीद है की कि आपको यह जानकारी East West North South in Hindi आपको पसंद आई होगी अगर इस लेख में में लिखी गई बात आपको अच्छी लगे तो इसे आगे शेयर जरूर करें।

इसे भी पढ़ें :-

Leave a Comment