Call Forwarding Meaning in Hindi | Call Forwarding क्या है इस्तेमाल कैसे करें?

Call Forwarding Meaning in Hindi : दरअसल आप सभी लोगों ने call forwarding  का नाम तो सुना ही होगा लेकिन आखिरकार Call Forwarding क्या है इस्तेमाल कैसे करें। आज की जनरेशन को देखे तो सभी के जीवन का मुख्य हिस्सा मोबाइल बन चुका है। किसी के पास कुछ हो या ना हो लेकिन मोबाइल फोन जरूर होगा। जिसमें अनेकों Features और setting भी दी हुई होती हैं। जिसमें से Call forwarding का option या setting एक है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दरअसल दोस्तों कभी किसी कारण बस आप अपना मोबाइल फोन घर पर ही ऑफिस जाते वक्त भूल जाते हैं और आपके पास इतना समय भी नहीं होता, कि आप वापस घर जाकर अपना फोन ला सके। ऐसे में आप अपने calling का क्या करेंगे, आपको पूरा दिन ऑफिस में बिना फोन के गुजारना होगा। लेकिन बात आती है कि सभी important फोन call जो की मोबाइल फोन में आ सकते हैं। उन सभी को कैसे अटेंड करें उन सभी call का क्या होगा,

तब उस वक्त काम आता है Call forwarding का ऑप्शन दूसरी बड़ी समस्या लोगों के पास यह आती है कि यदि कोई अपना मोबाइल नंबर चेंज कर रहा हैं। लेकिन उनके सभी पुराने दोस्त, बॉस, बैचमेट ,स्कूल में मित्र, उसी पुराने नंबर से call कर रहे हैं। तब उस कंडीशन में आपको बड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि जिनके पास उसका पुराना नंबर है वह सभी उसी पर call करेंगे, तब उस समय आपके पास एक बेस्ट option होता है, call forwarding features का।

यदि आप Call Forwarding  के बारे में अच्छे से जानते हैं आपको इसके बारे में पता है तो आप अपनी किसी भी SIM चाहे वह SIM  jio, vodafone, BSNL या फिर Airtel किसी भी SIM  का नंबर हो। आप उसे call forward में लगा सकते हैं और अपनी call को दूसरे नंबर पर transfer भी कर सकते हैं। जिससे आपको अपनी सुविधा अनुसार  SIM में सभी call प्राप्त हो जाएंगे।

लेकिन दोस्तों हम सभी के मन में एक बात जरूर उठती है कि आखिर कार्य call forwarding  होती क्या है ? इस call forwarding के फीचर को कैसे यूज करते हैं ? इस features को चालू करने से कुछ चार्ज भी लगता है ? ऐसे बहुत सारे सवाल मन में उठते हैं।

इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को call forward और call divert से संबंधित संपूर्ण जानकारी को प्रदान करेंगे। इसलिए इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक अवश्य पढ़ें। जिससे आप इस features  को अच्छी तरह समझ पाएंगे और अपने मोबाइल फोन पर चालू – बंद कर सकेंगे।

Call Forwarding Meaning in Hindi

Call Forwarding क्या है?

किसी भी SIM  के नंबर की incoming call को किसी अन्य SIM के या उसी SIM के मोबाइल नंबर पर कॉल भेजने की प्रक्रिया को call forwarding  कहते हैं। तथा इसे अन्य नाम जैसे, Call divert के नाम से भी जाना जाता है Call forwarding को हिंदी में कॉल अग्रेषित करना या कॉल आगे भेजना भी बोला जाता है।

यदि हम इसे आसान भाषा में या उदाहरण के रूप में समझे तो, मान लीजिए आपके पास airtal की SIM  मोबाइल फोन पर लगी हुई है आपके सभी दोस्त यार airtal के SIM  के नंबर पर ही call करते हैं लेकिन कुछ कारणवश आपने एक नई SIM खरीदने का सोचा है और आप मार्केट से jio की SIM ले आए लेकिन आप चाहते हैं की हमारे जितने भी दोस्त यार हैं।

वह सभी अब Airtal की SIM  के नंबर पर call ना करें या फिर जब वह Airtal की SIM  के नंबर पर call करें तब उन सभी का call jio की SIM पर आए इसी को हम call forward या call divert के नाम से जानते हैं।

इस incoming call Switching system को अन्य नंबर या किसी दूसरे मोबाइल नंबर पर transfer करने की प्रक्रिया को incoming call switch system  बोला जाता है क्योंकि इसमें मोबाइल SIM पर आने वाले call को setting के माध्यम से switch करके अन्य मोबाइल नंबर पर transfer कर दिया जाता है।

Call forwarding के इस set up के माध्यम से एक बहुत बड़ा बेनिफिट होता है जैसे कि आपने call forwarding चालू कर दी है लेकिन किसी कारणवश जिस नंबर में आप call forwarding चालू किए हैं वह नंबर आपका बंद हो जाता है, या फिर SIM घूम जाती है, या मोबाइल से SIM बाहर रहती है, हर परिस्थिति मे उस SIM की call आपके द्वारा सेट किए गए call forwarding वाले नंबर पर ही प्राप्त होंगे।

Call Forwarding क्यों करें?

Call forwarding करना सभी के लिए अनिवार्य नहीं है और ना ही कोई जरूरी कार्य है। सिर्फ call forwarding एक मोबाइल फोन पर call setting का एक feature है जिसे चालू या बंद भी किया जा सकता है, इस feature को चालू करने पर आप अपने मोबाइल नंबर की incoming call को दूसरे अन्य किसी मोबाइल नंबर पर forward  कर सकते हैं जिससे call receive करने में आपको हेल्प हो सकेगी।

Call Forwarding उदाहरण 1 –

हम call पर वेटिंग के इस setting को एक उदाहरण के माध्यम से समझेंगे, जैसे मान लीजिए कि आप और आपके दोस्त दोनों हीं कोई waterpark में गए है दोनों ही खूब enjoy कर रहे हैं और फोटो क्लिक कर रहे हैं, फोटो क्लिक करते करते ही आपका फोन पानी पर गिर जाता है उस कंडीशन में आप क्या करेंगे?

आपकी फोन की कंडीशन इतनी खराब है कि वह चालू भी नहीं हो रहा तथा आपको यह भी पता है कि आपके SIM  पर call भी आ रहे होंगे, इस कंडीशन पर आपके सामने सिर्फ और सिर्फ एक option आता है वह call forwarding  के option को ऑन करना आप अपने मित्र के नंबर पर call forwarding के option को ऑन कर देना होगा जिससे कि आपके SIM पर आने वाले सभी call आपके मित्र के फोन में आए।

उदाहरण 2 –

आपको पता ही होगा कि बड़े बड़े बिजनेसमैन या कुछ शौक रखने वाले व्यक्ति एक के साथ कई अन्य SIM  भी रखते हैं और एक से अधिक मोबाइल फोन भी रखते हैं ऐसी कंडीशन में हर वक्त हर SIM के नंबर पर आए call को रिसीव करवाना थोड़ा मुश्किल होता है उस कंडीशन में भी आप call forwarding सुविधा का उपयोग कर सकते हैं।

Call Forwarding कैसे करें?

यदि आप भी अपने मोबाइल फोन incoming call को किसी अन्य नंबर के साथ जोड़कर call forwarding चालू करना चाहते हैं या call डाइवर्ट चालू करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ setting करनी होगी जिसे हमने नीचे बताया हुआ है।

हम आप सभी की जानकारी के लिए बता दें कि एक फोन call को दूसरे फोन पर transfer  करने के लिए सभी के मोबाइल फोन पर call forwarding की setting दी हुई होती है यह features सभी के मोबाइल फोन पर already feed होता है अतः सिर्फ आपको अपने मोबाइल फोन के setting में जाना है और call forwarding के features को ऑन करना है।

इसके अलावा सभी SIM कार्ड की कंपनी भी अपने ग्राहकों को कुछ code देती है जिसे अपने नंबर से सिर्फ डायल करना होता है और अपना call forward  या call डाइवर्ट शुरू हो जाता है।

Method 1 – मोबाइल फोन की setting  से ;

Step-1. इसके लिए सबसे पहले आपको call dialer के three dot पर क्लिक करना होगा।

Call Forwarding Meaning in Hindi

Step-2. उसके बाद Setting का option दिखाई देगा उसे ओपन कर ले।

Call Forwarding Meaning in Hindi

Step-3. अब आप Call Setting में आ जायेंगे आपको यहाँ Supplementary services का ऑप्शन चुनना होगा।

Call Forwarding Meaning in Hindi

Step-4. इसके बाद आपको कई फीचर्स दिखाई देंगे अगर आपके फोन में दो सिम कार्ड है तो आपको यहाँ दो सिम कार्ड के लिए दो ऑप्शन देखने को मिलेंगे आपको जिस सिमकार्ड के लिए कॉल Forwarding चालू करना है उसे चुने।

Call Forwarding Meaning in Hindi

Step-5. फिर आपके सामने Voice calls और Video calls का ऑप्शन मिलेगा आपको जिस तरह के कॉल पर Call Forwarding करना है उसे चुने।

Call Forwarding Meaning in Hindi

Step-6. अब आप call फॉर वेटिंग पर क्लिक करें क्लिक करने के पश्चात आपको चारों option दिखाई देंगे जो कुछ इस प्रकार होंगे।

Call Forwarding Meaning in Hindi
  • Always Forward – इस option पर क्लिक करने का मतलब यह है कि आप अपने सभी SIM के सभी इनकमिंग कॉल को किसी अन्य नंबर पर transfer करना चाहते है इसके साथ साथ पहले वाले नंबर पर किसी भी प्रकार का call नहीं आए।
  • When Busy – इस option पर क्लिक करने का मतलब यह है कि जब आप कहीं बिजी हो, आप कुछ काम कर रहे हैं, या किसी से बात कर रहे हैं और उसी नंबर पर किसी दूसरे की कॉल आए तो उस कॉल को किसी दूसरे नंबर पर forward कर सके, जिससे दूसरा व्यक्ति उस call को रिसीव कर सके।
  • When unanswered – इस option में click करने के बाद मान लीजिए आप कहीं आपका मोबाइल फोन कहीं रखा हुआ है और आप उस call को receive नहीं कर पा रहे हैं या नहीं कर पा सकते, तब यह option काम आता है जिसमें लंबे समय तक आप call receive नहीं करेंगे तो call automatic दूसरे नंबर पर forward हो जाएगा।
  • When Unreachable – कभी-कभी ऐसा होता है कि हमारे फोन का नेटवर्क चला जाता है या फिर मोबाइल बंद हो जाता है इसके साथ-साथ SIM  कार्ड मोबाइल में नहीं लगा होता इन सभी परिस्थितियों में आपकी इनकमिंग call दूसरे नंबर पर forward  हो जाती है, इसको अपने से समझ सकते हैं कि यदि आपकी SIM  कार्ड चालू है तो आपके नंबर पर call आएगी यदि किसी कारण बस आपकी SIM कार्ड बंद हुई तो call दूसरे नंबर पर चली जाएगी।

Step-7. अब आप जिस option को सिलेक्ट करना चाहते हैं उसे सिलेक्ट कर ले।

Step-8. सेलेक्ट करने के बाद जिस नंबर पर call forward  करवाना चाहते हैं उस नंबर को इंटर कर दें।

Step-9. इंटर करने के बाद turn on पर क्लिक कर दें।

Step-10. क्लिक करते ही अब आपकी इनकमिंग call दूसरे नंबर पर forward होना शुरू हो जाएगी।

इस प्रकार आप मोबाइल फोन की setting  से call forward  कर पाएंगे यह तो पहला तरीका हो गया, अब जानते है दूसरे तरीके को।

Method 2 – USSD CODE के माध्यम से

इस ussd code के जरिए भी आप अपने call forwarding शुरू कर सकते हैं इसके लिए हर SIM  के अलग-अलग code कंपनी द्वारा जारी किए जाते हैं जिसकी जानकारी को हमें नीचे प्रस्तुत किया है।

  1. JIO – यदि आप अपने जिओ SIM के नंबर को forward करवाना चाहते हैं तो उसके लिए कंपनी द्वारा जारी code यह है जिसे डाल कर आप अपना फोन नंबर forward  करवा सकते हैं, लास्ट में 10 Digit का मतलब यह है कि आप अपना 10 अंक का मोबाइल नंबर डालें

*401*<10 digit number >

  1. Airtel – यदि आप अपने एयरटेल के SIM  के नंबर को call forwarding में लगाना चाहते हैं तो उसके लिए कंपनी द्वारा code दिया गया है

( **002*10 digit number ) and (**21*10 digit number)

  1. Vodafone – यदि आप अपने वोडाफोन के SIM नंबर को call forward में लगाना चाहते हैं तो उसके लिए वोडाफोन द्वारा code दिया गया है। (**67*10 digit number)

Call forwarding कैसे हटाएं?

हम आपको बता दें कि हर चीज के दो पहलू होते हैं एक फायदा तो दूसरा नुकसान वैसे ही call forwarding भी जितना लाभदायक है उतना नुकसान दायक भी है यदि इसका सही तरीके से उपयोग ना किया जाए तो क्योंकि जब call forward होता है तब आपके SIM से बैलेंस भी कटता है इसलिए इस फीचर को यूज करने के बाद बंद करना भी अति आवश्यक है।

Method 1 – मोबाइल फोन की setting से

जिस प्रकार आप ने call forwarding को शुरू करने की पूरी प्रोसेस को फॉलो किया था ठीक उसी प्रकार इस प्रोसेस को भी फॉलो करते हुए आप उस setting  में पहुंचेंगे और जहां पर आप ने call forwarding  के option को on किया था बस उसी option को off कर देना है इस प्रकार आप मोबाइल फोन की setting  से call forwarding option को बंद कर सकते हैं।

Method 2 – USSD CODE के माध्यम से

यदि आप setting के माध्यम से call forwarding  बंद नहीं करना चाहते तो आप USSD CODE का उपयोग कर दी call forwarding के option को बंद कर सकते हैं जिसका code सभी के SIM  के लिए सामान्य है जो यह  ##002# होते हैं।

Call Forward के नुकसान एवं फायदे

सबसे पहले Call forwarding के फायदे यह है कि यदि आप किसी कारण बस अपने मोबाइल फोन का कॉल रिसीव नहीं कर पा रहे या आपका फोन खराब हो जा रहा है उस समय पर आप इमरजेंसी कॉल को दूसरे मोबाइल फोन में transfer कर अटेंड कर सकते हैं जिससे आपकी कॉल भी नहीं छूटेगी।

दूसरा Call forwarding के नुकसान यह है कि यदि आप किसी अन्य कॉल पर call forward करवा रहे हैं तब अगर अनलिमिटेड पैक ना हो तो उस SIM का बैलेंस कटता है ।

FAQ

Q : Call Forwarding का मलतब क्या है?

Ans : कॉल अग्रेषण करना या आने वाले कॉल को किसी और नंबर में फॉरवर्ड करना

Q : कैसे पता चलेगा कि कॉल फॉरवर्डिंग है?

Ans : मोबाइल में उसी नंबर से *#62# या *#21# Code को डायल करे उसके बाद स्क्रीन पर आपको दिख जायेगा की कॉल फॉरवर्डिंग है या नहीं,

निष्कर्ष :-

तो दोस्तों हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा प्रस्तुत Call Forwarding Meaning in Hindi ऊपर यह आर्टिकल आपके लिए लाभदायक रहा होगा जिसमें आपने जाना की call forwarding कैसे चालू करें, कैसे बंद करें, यदि यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो इसे आप अपने मित्रों एवं परिवार के सदस्यों तक जरूर पहुंचाएं जिससे वह भी call forwarding को सीख सके और चालू – बंद कर सकें, धन्यवाद।

उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे सोशल मीडिया पर शेयर करे।

Related Articles :-

हमारे ऑफिसियल व्हाट्सएप्प चैनल को फॉलो करें 👉🏿 Follow Now

मै निशांत सिंह राजपूत इस ब्लॉग का फ़ाउंडर हूँ। मुझे अलग-अलग चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में रूचि है, मै करीब 3 वर्ष से अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहा हूँ। मेरे द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Leave a Comment