close button

बालक शब्द रूप | Balak Shabd Roop

Balak Shabd Roop : इस लेख में आपको बालक शब्द रूप कैसे लिखा जाता है इसके बारे में बताये है, जैसे की हमें मालूम है की अजन्त (अकारांत) पुल्लिंग संज्ञा शब्द है सभी पुल्लिंग संज्ञाओ के रूप इसी प्रकार बनाते है जैसे,  शिष्य, लोक, ईश्वर, नृप, कृष्ण, विद्यालय, ग्राम, तडाग, बाण, मृग, सर्प, शकट, देव, गज, राम, वृक्ष, सुर, मानव, अश्व, दिवस, ब्राह्मण, छात्र, सूर्य, दर्पण, दीप, छाग, कूप, चाप, चन्द्र आदि इसी प्रकार बनाये जाते हैं।

Balak Shabd Roop
Balak Shabd Roop

बालक शब्द रूप – Balak Shabd Roop

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमाबालकःबालकौबालकाः
द्वितीयाबालकम्बालकौबालकान्
तृतीयाबालकेन्बालकेभ्याम्बालकै:
चतुर्थीबालकायबालकेभ्याम्बालकेभ्य:
पंचमीबालकात्बालकेभ्याम्बालकेभ्य:
षष्ठीबालकस्यबालकयो:बालकानाम्
सप्तमीबालकेबालकयो:बालकेषु
संबोधनहे बालक!हे बालकौ!हे बालका!

अब आपको हम कारक के साथ बालक के रूप किस प्रकार बदलते है इसके बारे में बताया है और साथ ही शब्दों का हिंदी अनुवाद भी किया है।

विभक्तिकारकएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमाकर्ताबालकः (सु)बालकौ (औ)बालकाः (जस्)
…..…….(बालक ने)(दो बालकों ने)(बहुत बालकों ने)
द्वितीयाकर्मबालकम् (अम्)बालकौ (औट)बालकान् (शस्)
………..(बालक को)(दो बालकों को)(बहुत बालकों को)
तृतीयाकरणबालकेन (टा)बालकाभ्याम् (भ्याम्)बालकैः (भिस्)
…………(बालक से)(दो बालकों से)(बहुत बालकों से)
चतुर्थीसम्प्रदानबालकाय (ङे)बालकाभ्याम् (भ्याम्)बालकेभ्यः (भ्यस्)
…………(बालक को, के लिए)(दो बालकों को, के लिए)(बहुत बालकों को, के लिए)
पञ्चमीअपादानबालकात् (ङसि)बालकाभ्याम् (भ्याम्)बालकेभ्यः (भ्यस्)
…………(बालक से)(दो बालकों से)(बहुत बालकों से)
षष्ठीसम्बन्धबालकस्य (ङस्)बालकयोः (ओस्)बालकानाम् (आम्)
…..……  (बालक का)(दो बालकों का)(बहुत बालकों का)
सप्तमीअधिकरणबालके (ङि)बालकयोः (ओस्)बालकेषु (सुप्)
…………  (बालक में, पर)(दो बालकों में, पर)(बहुत बालकों में, पर)
प्रथमासम्बोधनहे बालक (सु)हे बालकौ (औ)हे बालकाः (जस्)
…………  (हे एक बालक!)(हे दो लड़कों!)(हे बहुत से लड़कों!)

उम्मीद करता हूँ की Balak Shabd Roop आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे सोशल मीडया पर शेयर करे।

Related Articles :-

Leave a Comment